कई लोगो ने Indian Style में कमोड लगवाना क्यों बंद कर दिया है , जानिए यहां | GK Update In Hindi

 

GK In Hindi – दोस्तों  आप जानते  Indian स्टाइल  में  कमोड लगवाना बंद क्यों कर दिया है,  आज कल के  लोगों के घरों में Western कमोड ही लगे नजर आते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि भारत में लोगों ने Indian कमोड लगवाना बंद कर दिया है, दोस्तों  कुछ लोग  Indian कमोड को लगवाना ओल्ड फैशन समझते है या किसी परेशानी के चलते, जैसे घर में बुजुर्ग लोग होने के चलते वेस्टर्न कमोड लगवाना पसंद करते  हैं।

 GK  In Hindi- जैसा की दोस्तों आप लोग जानते है, जिसके चलते इन चीजों को करना पड़ता है। बहुत लोगो  ने घर में Simple कमोड लगवाना बंद क्यों कर दिया, इसके भी दो  कारण हो सकते है।  पहला ये कि जैसा की आप जानते  हैं, कि आज के समय में आबादी का एक बहुत ही  बड़ा वर्ग को अब ऊंकड़ूं या घुटने मोड़ कर पैरों के बल बैठने की आदत  अब बिलकुल भी  नहीं रही है, क्योंकि हमारे रहन-सहन और तौर तरीकों में एक बड़ा बदलाव आ गया है, इसका एक कारण ये भी हो  सकता है।

केवल एक इसी वजह से लोग लगवाते हैं, western कमोड  

अगर देखा जाए तो ज्यादातर Indian घरों में हम लोग टेबल और कुर्सियों के इस्तेमाल के आदि हो गए हैं। तो दोस्तों इसी कारण से हम ऐसे में अब हमारी पालथी मारकर बैठना और पैरों के बल बैठने की आदत  लगभग खत्म हो गई है, दोस्तों जो लोग ऊंकड़ूं बैठने के अभ्यस्त नहीं है, वे Indian Style  पर बैठने में भारी असुविधा महसूस करने लगते है।

दोस्तों दूसरा कारण यहाँ है, कि western  कमोड का इस्तेमाल में ज्यादा सुविधाजनक माना जा रहा है, फ्रेंड्स आप लोगो ने देखा होगा की  सीनियर सिटीजन्स, बीमार और किसी अन्य वजह से घायल व्यक्तियों के लिए Western  कमोड बनाये गए। जो आज के टाइम में बहुत ही  सुविधा जनक माना जा रहा है।

 कुछ लोग इन बीमारियों के चलते Western कमोड लगवाना पसंद करते है।

दोस्तों ये बात तो आप सभी लोग जानते हैं, कि आयु बढ़ने के साथ-साथ शरीर में बहुत सारी कमजोरी, गठिया, आर्थराइटिस जैसी बीमारियों के कारण कई लोगो के  घुटने जबाब दे जाते हैं। तब ये Western कमोड  एक वरदान साबित होता है। आप सबका घरों में अपने अपने बड़े बुजुर्गों के साथ अपना अपना अनुभव भी होगा , इसी के चलते लोग ज्यादातर अपने घरों में Western  कमोड लगवाना बहुत ही ज्यादा पसंद करने लगे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *